आदर्श विद्यार्थी पर निबंध (2021)- Essay on Adarsh Vidyarthi in Hindi

दोस्तो, आज हम आदर्श विद्यार्थी पर निबंध (Essay on Adarsh Vidyarthi in Hindi) जानेगे । यह निबंध आपको स्कूल, कॉलेज और कई जगहो पर काम आने वाला है ।

हम सभी लोगो के मनमे यह प्रश्न जरूर आया होगा की, क्या हम एक आदर्श विद्यार्थी है ? क्योकि एक समय मे हम भी एक विध्यार्थी है ।

इसके साथ-साथ हम यह भी समझेगे की, कैसे एक आदर्श विध्यार्थी जीवन के सभी पहलुओ मे सफलता हासिल कर सकता है ?

हम पर भरोसा करें, आदर्श विद्यार्थी पर निबंध पढ़ने के बाद शायद ही आपके मनमे इसके बारे मे कोई संदेह रहेगा ।

तो चलिए शुरू करते है ।

 

Essay on Adarsh Vidyarthi in Hindi- आदर्श विद्यार्थी पर निबंध

 

आदर्श छात्र होना मनुष्य को जीवन में कैसे मदद करता है ?

सबसे पहले एक आदर्श छात्र अपने काम के प्रति व्यवस्थित और वफादार होता है ।

एसा छात्र हमेशा अपनी चीज़ों को ढंग से रखने की कोशिश करता है । ताकि जब भी किसी चीज़ की ज़रूर पड़े तो वह उनको मिल जाती है ।

इससे एक आदर्श छात्र के जीवन मे समय की बर्बादी नही होती या तो बहोत कम होती है । ऐसे विद्यार्थी हमेशा अपने समय का सदुपयोग करते है ।

उनको जीवन मे कुछ नया सीखने की हमेशा भूख रहती है । इस भूख से ही आदर्श छात्र को जीवन मे आगे बढ़ने से कोई रोक नहीं सकता ।

एसा छात्र हमेशा अपने माता-पिता, स्कूल और देश का नाम रोशन करने की कोशिस करता है ।

वह दूसरों की सेवा करने मे और सत्य वचन बोलने मे विश्वास करता है ।

एक आदर्श छात्र हर कार्य को पूरी ईमानदारी और एकाग्रता से करने की कोशिश करता है ।

essay on adarsh vidyarthi in hindi

एसे छात्रो को अनुशासन में रहना अच्छा लगता है । क्योकि उनको पता है की, सफल होने के लिए अनुशासन को दैनिक जीवन मे लाना बहोत जरूरी है ।

इसके अलावा वह हमेशा बिना घमंड और अहंकार किए दूसरों की सहायता करने के लिए तैयार रहता है ।

वह अलग-अलग गतिविधियों मे भी एक संतुलन को बनाए रखने की कोशिश करता है ।

ऊपर बताई गई सभी चिजे एक आदर्श छात्र अपने छात्र काल मे करता है । और जैसे-जैसे वह जीवन मे आगे बढ़ता है, वैसे-वैसे यह सभी चिजे उसको सफल होने के लिए बहोत काम आती है ।

 

एक आदर्श छात्र की मुख्य विशेषताएं :-

एक आदर्श छात्र के अंदर नीचे दी गई विशेषताए जरूर होती है । चलिये बारी-बारी हम सभी को जानते है ।

आदर्श विद्यार्थी की पहली मुख्य विशेषता कठोर परिश्रम है ।

वह अपने हर काम को पूरा मन लगाकर करता है । जिसकी वजह से उस छात्र के जीवन मे सफल होने की संभावना ज्यादा होती है ।

आदर्श विद्यार्थी की दूसरी मुख्य विशेषता सकारात्मकता है । वह अपने हर कार्य को सकारात्मक तरीके से सोचता है ।

एसा छात्र मुसीबत मे होने पर भी सकारात्मक सोच रखता है । इसीलिए तो उसे सफल होने से कोई मुसीबत नहीं रोक सकती ।

ऊर्जावान आदर्श विद्यार्थी की तीसरी मुख्य विशेषता है । हर सुबह वह एक नई ऊर्जा के साथ उठता है ।

adarsh vidyarthi in hindi

ऊर्जावान रहने के लिए वह योगा, व्यायाम और अच्छा भोजन का सहारा लेता है । इसकी वजह से छात्र का मन पढ़ाई मे बहोत अच्छी तरह से लगता है ।

आदर्श विद्यार्थी की चौथी मुख्य विशेषता है, धैर्यवान । 

भले ही कितना मुश्किल और कठिन काम हो, वह कभी भी अपने काम मे जल्दबाजी नहीं करता । इसीलिए तो भविष्य मे एसा छात्र एक बड़ा व्यक्ति बनता है ।

सच्चाई और आज्ञाकारी आदर्श विद्यार्थी की पाँचवी मुख्य विशेषता है ।

एक आदर्श विद्यार्थी के जीवन मे चाहे कितनी भी मुश्किल परिस्थिति क्यो न आ जाए, परंतु वह सच्चाई का साथ नहीं छोड़ता ।

इसके अलावा वह अपने बड़ों का आदर करता है । बड़ों द्वारा कही गयी बातों और उनकी आज्ञाओ का पालन करता है ।

जिज्ञासु छात्र भी एक सफल छात्र है । क्योकि एसा छात्र हमेशा कुछ नया सीखने और कुछ नया करने के लिए उत्सुक रहता है ।

एक आदर्श छात्र नेतृत्व करने वाला होता है । एसा छात्र हमेशा लोगो को साथ लेकर चलता है ।

एसे छात्रो को अनुशासन पर चलना पसंद होता है । हमेशा समय पर उठना, खाना, स्कूल जाना, खेलना और समय पर अपना हर कार्य करना एक आदर्श विद्यार्थी की निशानी है ।

वह हमेशा समय का सदुपयोग करता है । क्योकि उसे पता है की, अगर समय की कद्र नहीं की तो आगे जाकर हमे बहोत पछताना पड़ेगा । 

इसके अलावा अपने स्कूल, घर और समाज मे आदर्श छात्र सबका पसंदीदा छात्र होता है ।

 

(घरेलू हिंसा पर निबंध, एक बार जरूर पढे)

 

आदर्श विद्यार्थी के प्रमुख लक्षण :-

अगर आपके आस-पास कोई एसा छात्र है, जिसके अंदर नीचे बताए गए लक्षण है तो समझना की वह एक आदर्श विद्यार्थी है ।

ईमानदार, भरोसेमंद, सकारात्मक, परिश्रमी, मेहनती, उदारता, सत्यता और आज्ञाकारिता जैसे गुण एक आदर्श विद्यार्थी के अंदर होने चाहिए ।

इसके अलावा भी हर काम के लिए उत्सुक और तैयार रहना, हर वर्ग के लोगो के साथ अच्छा आचरण और व्यवहार करना, समय का सदुपयोग करना, अच्छे से पढ़ाई करना और देश का अच्छा नागरिक बनना भी आदर्श विद्यार्थी के मुख्य गुण है ।

ideal student essay in hindi

आदर्श विद्यार्थी के प्रमुख लक्षण को साधारण भाषा मे समझे तो, जो छात्र अपनी शिक्षा पर अच्छे से ध्यान दे, सफलता पाने के लिए कड़ी मेहनत करे, अनुशासन का पालन करे, अपने कर्तव्यों को समझे और आस-पास के सभी लोगों से अच्छा व्यवहार करे तो हम उसे आदर्श विद्यार्थी कह सकते है ।

 

(आज की खतरनाक सोशल मीडिया पर निबंध)

 

आखिर कैसे हम एक आदर्श विद्यार्थी बन सकते है ?

हमने यह तो जान लिया की, कैसे एक आदर्श विद्यार्थी जीवन मे एक सफल व्यक्ति होता है ।

परंतु अगर हम एक आदर्श विद्यार्थी नहीं है, तो कैसे खुद को एक आदर्श विद्यार्थी बना सकते है ?

इसके लिए हमे सबसे पहले आज्ञाकारी बनना होगा । अपने माता-पिता, गुरु और बड़े-बुजुर्ग लोगों की आज्ञा का पालन करना होगा । उनके द्वारा कही गई हर बात को अपनाना होगा । 

क्योकि अक्सर वो लोग हमारे भले के लिए ही सोचते है । इसीलिए हमे उनका सम्मान करना चाहिए ।

adarsh vidyarthi

इसके अलावा हमे दूसरे लोगो के प्रति प्रेम-दया की भावना रखनी है । चाहे कुछ भी हो जाए, हमे कभी किसी से लड़ाई-झगड़ा नहीं करना चाहिए ।

अगर हम दूसरे लोगो के प्रति प्रेम-दया की भावना रखेंगे तो वह भी हमारे लिए प्रेम-दया की भावना रखेंगे ।

हमे सभी लोगो को एकसमान भाव से देखना चाहिए । चाहे अमीर हो या गरीब, जमीनदार हो या किसान सभी लोगो का सम्मान करना चाहिए । इससे हमारे अंदर समानता की भावना पैदा होती है ।

इसके अलावा हमे समय के महत्व को समझना है । क्योकि आदर्श छात्र होने का पहला कदम ही समय का सदुपयोग करना है ।

पढ़ाई से लेकर खेल तक और भोजन से लेकर सोने तक हर चीज़ समय के प्रबंधन मे होनी चाहिए । तभी हम अपने जीवन मे आगे बढ़ सकते है । 

एक आदर्श विद्यार्थी बनने के लिए आपको स्वच्छ रहना चाहिए और स्वास्थ्य भी अच्छा होना चाहिए ।

क्योकि जो व्यक्ति तन से स्वच्छ नहीं वह मन से क्या स्वच्छ होगा । और जिस व्यक्ति का स्वास्थ्य ठीक नहीं है, उसका पढ़ाई-लिखाई मे मन कैसे लगेगा ।

स्वच्छ रहने के लिए आस-पास सफाई रखे और स्वास्थ्य को अच्छा करने के लिए व्यायाम को अपनाए ।

इसीलिए तो हमे स्वच्छ और स्वास्थ्य इन दोनों को अपने जीवन मे अपनाना है ।

इसके अलावा हमे अपनी क्षमताओं का परीक्षण करते रहना चाहिए, अच्छे दोस्त बनाने चाहिए और कुछ नया सीखने की हमेशा कोशिश करते रहना चाहिए ।

इन सब चीज़ों के अलावा और भी कई चिज़े है, परंतु अगर आप इतनी चीज़ों को अपना लेंगे तो शायद हमे एक आदर्श विद्यार्थी होने से कोई रोक नहीं सकता ।

 

(हाथी पर एक जबरदस्त निबंध, जानना ना भूले)

 

एक आदर्श छात्र के लिए माता-पिता और शिक्षक की भूमिका :-

जन्म के साथ ही कोई बच्चा आदर्श नहीं बन जाता । उसके माता-पिता, गुरु और आस-पास के माहौल को देख कर ही बच्चा एक आदर्श व्यक्ति बनता है ।

और किसी भी देश का छात्र उस देश की संपत्ति से कम नहीं है । क्योकि एक छात्र के जीवन का विकास उस देश का विकास है ।

इसी कारण हमे भी छात्रो की मानसिक, शारीरिक, आध्यात्मिक और आधिभौतिक विकास पर ध्यान देने की जरूरत है । और बच्चो के इस तरह का ध्यान सिर्फ उसके माता-पिता और गुरु ही रख सकते है ।

इसीलिए एक बच्चे को आदर्श व्यक्ति बनाने मे सबसे बड़ी भूमिका उसके माता-पिता और गुरु की है ।

माता-पिता का कर्तव्य है की, अपने बच्चो को स्कूली ज्ञान के साथ-साथ बाहरी ज्ञान भी दे । बाहरी ज्ञान से मतलब यह है की, उनके व्यक्तित्व को निखार ने की कोशिश करे ।

कई माता-पिता अपने बचपन के अच्छे ग्रेड लाकर पास होने की तस्वीरे बच्चो को दिखाते है ।

यानि की वह अपनी तुलना अपने बच्चे से करते है । और अक्सर देखा गया है की, इससे कई बच्चे निराश हो जाते है ।

लेकिन माता-पिता अगर अपने बच्चो को यह सिखाये की अगर हम कड़ी मेहनत, आत्मविश्वास और दृढ़ निश्चय से काम करे तो जीवन के हर सपने को पूरा कर सकते है । 

और एक शिक्षक भी छात्रो को व्यावहारिक शिक्षा दे जो असल जीवन मे काम आने वाली है, तो शायद हम देश मे आदर्श छात्रो की संख्या बहोत तेजी से बढ़ा सकते है । (आदर्श विद्यार्थी पर निबंध)

इस तरह माता-पिता और शिक्षक दोनों एक छात्र के व्यक्तित्व को आकार देने और उसे आदर्श बनाने मे समान रूप से महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है ।

 

निष्कर्ष :-

जिस तरह हमे एक अच्छी और मजबूत इमारत बनाने के लिए उसकी नींव को मजबूत करना जरूरी है ।

वैसे ही, हमे इमारत रूपी देश को मजबूत और विकसित करने के लिए नींव रूपी छात्रो का विकास करना जरूरी है ।

इसलिए अगर हम देश के छात्रो को मजबूत करेंगे तो हमारे देश रूपी इमारत भी बहोत अच्छी हो जाएगी ।

और अंत मे इतना सब कुछ जानने के बाद शायद अब आप लोगो को पता चल गया होगा की, कैसे एक आदर्श विद्यार्थी जीवन के सभी पहलुओ मे सफलता हासिल कर सकता है ?

 


 

आपको यह आदर्श विद्यार्थी पर निबंध (Essay on Adarsh Vidyarthi in Hindi) कैसा लगा ?

हमने पूरी कोशिस की है, ताकि आपको सरल ओर साधारण भाषा मे आदर्श विद्यार्थी पर निबंध दे सके । लेकीन फिर भी आपको कोई समस्या हो तो आप हमे email करे ।

और अगर आपको इस निबंध से कुछ भी लाभ हुआ हो तो इसे शेर करना न भूले । (please share)

Thanks for reading आदर्श विद्यार्थी पर निबंध

 

READ MORE AERICLES :-

सड़क सुरक्षा पर निबंध

कोरोना वायरस पर निबंध

समय का महत्व पर निबंध

स्वामी विवेकानंद पर निबंध

ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध

ताजमहल पर एक सुंदर निबंध 

अहिंसा और युवा पर एक जबरदस्त निबंध

Leave a Comment