कोरोना वायरस पर निबंध (2021)- Essay on Coronavirus in Hindi

दोस्तो, आज हम कोरोना वायरस पर निबंध जानेगे । यह निबंध आपको स्कूल, कॉलेज और कई जगहो पर काम आने वाला है ।

हम इस निबंध मे विश्व के सबसे खतरनाक वायरस को जानने वाले है ।

इसके साथ-साथ हम यह भी जानेगे की आखिर यह वायरस कहा से आया, कितने लोगो को इसने अपनी चपेट मे लेकर मार दिया और क्यो who को इसे  वैश्विक महामारी घोषित करनी पड़ी ?

हम पर भरोसा करें, कोरोना वायरस पर निबंध पढ़ने के बाद शायद ही आपके मनमे इसके बारे मे कोई संदेह रहेगा ।

तो चलिए शुरू करते है ।

 

Essay on Coronavirus in Hindi- कोरोना वायरस पर एक जबरदस्त निबंध

 

प्रस्तावना :-

कोरोना वायरस एक सूक्ष्म प्रकार का वायरस है, जिससे ना सिर्फ भारत बल्के पूरा विश्व आज परेशान है । कुछ समय के लिए इस सूक्ष्म आकार के वायरस ने पूरे विश्व को हिला कर रख दिया है ।

क्योकि यह वायरस बहोत कम समय मे बहोत ज्यादा लोगो तक पहोंच गया था ।

कुछ रिपोर्ट के मुताबिक, करीब 116,000,000 से भी ज्यादा लोगो को इस वायरस ने अपनी चपेट मे ले लिया था । और इस वायरस ने करीब 2,590,000 लोगों की जानें ली थी ।

कोरोना वायरस की इतनी तबाही को देख कर ही, who ने इस बीमारी को एक वैश्विक महामारी घोषित कर दि ।

लेकिन आज भी कुछ विकसित देशो को छोड़कर कोरोना वायरस विश्व मे बहोत तबाही मचा रहा है, जिसे हम आगे जानने वाले है ।

 

आखिर कोरोना वायरस की उत्पत्ति कहाँ से हुई ?

माना जाता है की, साल 1930 मे एक मुर्गी के अंदर कोरोना वायरस की उत्पत्ति हुई थी । और 1940 तक यह वाइरस कई अन्य जानवरों में भी पाया गया था ।

लेकिन एक मनुष्य के अंदर कोरोना वायरस ने 1960 मे प्रवेश किया । उसके बाद भी कई बार कोरोना के दर्दी पाये गए थे ।

coronavirus ke bare mein bataiye

परंतु इसका विकराल स्वरूप साल 2019 मे बाहर आया । इसीलिए इस वाइरस का नाम कोविड-19 रखा गया । इसके अलावा इसे nकोविड-19 या SARS-COV-2 भी कहा जाता है ।

इस समय चीन का वुहान शहर कोरोना वायरस का केंद्र था ।

पहले यह वाइरस चमगादड़ो मे था, परंतु थोड़े दिनों के बाद ही इसने मनुष्य के शरीर मे भी प्रवेश कर लिया ।

कोरोना एक संक्रमित रोग है, जो खांसी और छींक द्वारा बड़ी तेजी से फैलता है । इसीलिए तो सिर्फ कुछ ही समय मे कोरोना वायरस पूरी दुनिया मे फैल गया ।

और इस वायरस की सबसे खतरनाक बात यह थी की, हमारे पास इसकी कोई वैक्सीन या दवाई नहीं थी । जिसकी वजह से हम सिर्फ अपने घर मे रह कर ही इस वायरस से बच सकते थे ।

एसा भी कहा जाता है की, कोरोना का संक्रमण अगर बढ़ जाए तो निमोनिया जैसी गंभीर बीमारियाँ भी फैल सकती है ।

 

(देश को बर्बाद करने वाला भ्रष्टाचार पर निबंध, जानना न भूले)

 

क्या है कोरोना वायरस ?

Who ने कोरोना वायरस का नाम कोविड-19 (Covid-19) रखा है । जिसमे CO का अर्थ कोरोना, VI का अर्थ वायरस, D का अर्थ डिसिस (रोग) और 19 का अर्थ 2019 है ।

Who को चीन ने इस नए कोरोना वायरस की जानकारी 7 जनवरी 2020 को दी थी । और तेजी से फ़ेल रहे इस वायरस को देख Who ने जल्द ही इसे वैश्विक महामारी घोषित कर दीया ।

एक मानव के बाल की तुलना मे यह वायरस 900 गुना से भी छोटा है । परंतु आज तक के सभी वायरसों मे कोरोना वायरस बहोत घातक साबित हुआ है ।

korona vayras par nibandh 2021

कोई भी वायरस को मुख्य दो भागो में विभाजित किया जाता है, DNA virus और RNA virus । कोरोना वायरस एक प्रकार का RNA virus है ।

कोरोना का सबंध एसे वायरस से है, जो जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ उत्पन्न करता हो ।

Who ने इस वायरस के मुख्य लक्षणो मे खांसी, बुखार और सांस लेने में तकलीफ को शामिल किया है ।

अगर आपको इन लक्षणो मे से कोई एक चीज़ भी हो तो आस-पास के डॉक्टर से जरूर संपर्क करे । हम आगे भी इसके मुख्य लक्षणो को जानेगे ।

 

कोरोना वायरस का आंतक :-

कोरोना ने कुछ ही समय मे पूरी दुनिया को अपनी चपेट मे ले लिया था । युएस, फ्रांस, इटली, जर्मनी, इरान और स्पेन जैसे विश्व के विकसित देशो ने भी इसके सामने घुटने टेक दिये थे ।

एक समय स्थिति एसी हो गयी थी की, हररोज 1500 से भी ज्यादा जाने जा रही थी । इसमे सबसे ज्यादा बूढ़े लोग शामिल थे ।

कुछ देशो की हालत इतनी गंभीर हो गयी थी की, लाशे रखने के लिए कब्रस्तान कम पड गए थे ।

इसके अलावा इस वायरस ने पूरे विश्व की अर्थव्यस्था को नीचे गिरा दिया था ।

कई लोग बेरोजगार हो गए, लॉकडाउन की वजह से कई गरीब लोग भूख की वजह से मर गए, कई बड़े-बड़े व्यापार ठप हो गए और भी कई चुनौतीया इस वायरस ने हमे दी थी ।

 

(बाल मजदूरी पर निबंध, हेरतंगेज़ तथ्यो के साथ)

 

कोरोना वायरस के प्रमुख लक्षण :-

कोरोना वायरस मे सबसे पहले मनुष्य को बुखार होता है । उसके बाद धीरे-धीरे सूखी खांसी और सर्दी होने लगती है ।

और उसके एक या दो हफ़्तो के बाद उस व्यक्ति को सांस लेने में परेशानी होने लगती है । यह कोरोना के मुख्य लक्षण है  ।

कई लोगो ने कोरोना वाइरस के लक्षण को तीन भागो मे विभाजित किया है । सामान्य लक्षण, हल्के सामान्य लक्षण और बेहद गंभीर लक्षण ।

korona vayras par nibandh bataiye

कोरोना के सामान्य लक्षण मे सामान्य बुखार, थकान और सूखी खांसी शामिल है ।

कोरोना के हल्के सामान्य लक्षण मे गले में खराश, सरदर्द, नाक बहना, दस्त, आँख आना और शरीर मे दर्द और मांसपेशियों में जकड़न शामिल है । 

लेकिन अगर आपको सीने में दर्द या दबाव हो, बोलने, चलने और फिरने में परेशानी हो और सांस लेने मे तकलीफ होती हो तो समजे की यह कोरोना के बेहद गंभीर लक्षण है ।

इस परिस्थिति मे आपको सही इलाज की बहोत जरूरत है, नहीं तो आपकी जान भी जा सकती है ।

इसके अलावा बुजुर्ग और अस्थमा, हार्ट या मधुमेह की बीमारी वाले लोगो के लिए यह वायरस बहोत खतरनाक है ।

 

कोरोना वायरस से बचने के उपाय :-

विश्व मे सबसे तेजी से फैलने वाला वायरस कोरोना वायरस है । इसने बहोत कम समय मे ज्यादा देशो को अपनी चपेट मे ले लिया था । 

इस वायरस को नियंत्रण करने के लिए कोई दवाई या वेक्सिन नहीं है, लेकिन Who ने कोरोना से बचने के कुछ उपाय बताए है ।

उसमे सबसे पहला है, सोशल डिस्टेंसिंग । शुरुआती दिनों मे इस वायरस से बचने के लिए एक मात्र उपाय यही था ।

इसके लिए आपको हर व्यक्ति से 5 या 6 फिट की दूरी बनाकर और मास्क पहनकर चले । और अगर जरूरत ना हो तो घर से बाहर ही ना जाएं ।

जब लोगो के संपर्क मे ही नहीं आएंगे तो कोरोना हम तक कैसे पहुंचेगा ।  

इसके अलावा अपने हाथो को बार-बार धोए या सैनिटाइज करे और आस-पास सफाई का ध्यान रखे ।

korona vayras par nibandh hindi me likha hua

खांसते और छींकते समय भी रूमाल से अपने मुंह और नाक को ढंकें और पानी को उबालकर पीने का प्रयास करे ।

बाहर से लाई गई हर चीज को पहले धोए उसके बाद ही इसका उपयोग करे ।

मोबाइल, टेबलेट और लैपटॉप को भी सैनिटाइज करते रहे । (कोरोना वायरस पर निबंध)

इसके अलावा घर का सामान किसी और से मंगाएं और खाने मे पौष्टिक और हरी सब्जियों का समावेश करे । क्योकि मजबूत इम्यून सिस्टम वाले लोगो पर कोरोना का प्रभाव बहोत कम होता है ।

इसके अलावा जो भी यात्री विदेश से आ रहा है, उनका एयरपोर्ट पर अच्छे से जांच करे । ताकि अगर कोरोनाग्रस्त व्यक्ति मिल जाए तो और लोगो तक कोरोना ना पहुँच सके ।

इसके अलावा अपनी आस-पास की अफवाओ से बचे और दूसरों को भी बचाए ।

और एसी कई चिज़े Who और भारत सरकार ने हमे बताई है, जिससे हम खुद और अपने परिवार को कोरोना वायरस से बचा सकते है ।

 

(खुशियो का त्यौहार दिवाली पर निबंध)

 

कोरोना काल मे भारत की स्थिति :-

दूसरे देशो के मुक़ाबले भारत की स्थिति कोरोना वायरस के समय थोड़ी अच्छी थी । क्योकि भारत ने इस समय एक योजनाबद्ध तरीके से काम किया था ।

जब कोरोना वायरस पूरी दुनिया को अपनी चपेट मे ले रहा था, तब भारत ने देश मे लॉकडाउन लगा दिया था ।

इसकी वजह से भारत ने शुरुआती समय मे कोरोना पर काबू कर लिया था । परंतु कुछ समय बाद हमारी स्थिति भी खराब होने लगी थी । (कोरोना वायरस पर निबंध)

लेकिन भारत ने बाकी देशो के मुक़ाबले कोरोना को इतना फैलने नहीं दिया था ।

इस वायरस ने भारत की अर्थव्यवस्था को भी बहोत नुकसान पहोचाया था । किन्तु डॉक्टर और नर्सो के लिए बनाई जाती पीपीई किट के उत्पादन मे भारत विश्व में दूसरे स्थान पर था ।

इसके अलावा भी भारत ने कई बड़े-बड़े फैसले लिए, जिसकी वजह से हमे इस वायरस ने ज्यादा नुकसान नहीं पहोचाया था ।

 

निष्कर्ष :-

इतना सब कुछ जानने के बाद शायद अब आप लोगो को पता चल गया होगा की, आखिर क्यो इस वायरस को दुनिया का सबसे खतरनाक वायरस कहा जाता है ?

लेकिन इस वायरस की वजह से हमे विश्व के सभी देशो मे एकता नज़र आई थी । दुनिया के सभी देश एक होकर इस वायरस से लड़ रहे थे और एक-दूसरे की मदद कर रहे थे ।

और शायद इसीलिए आज हम इस वायरस को बहोत हद तक नियंत्रण कर पाये है ।

अगर इसी तरह हम विश्व की सभी नुकसानकारक चीज़ों के सामने एक होकर लड़े तो किसी भी समस्या का हल निकाल सकते है ।

अंत मे आपसे एक प्रश्न पूछना चाहता हु की, क्या अब आप लोग इस कोरोना वायरस से लड़ने के लिए देश का साथ देंगे या नहीं ? इसका जवाब कमेंट मे जरूर दे ।

और आपको यह कोरोना वायरस पर निबंध कैसा लगा ?

हमने पूरी कोशिस की है, ताकि आपको सरल ओर साधारण भाषा मे कोरोना वायरस पर निबंध दे सके । लेकीन फिर भी आपको कोई समस्या हो तो आप हमे email करे ।

और अगर आपको इस निबंध से कुछ भी लाभ हुआ हो तो इसे शेर करना न भूले । (please share)

Thanks for reading कोरोना वायरस पर निबंध 

 

READ MORE ARTICLES :-

 

प्रकृति पर निबंध

इंटरनेट पर निबंध

भगत सिंह पर निबंध

होली पर रंगीन निबंध

मेरा भारत देश महान पर निबंध

अनुशासन पर एक कडक निबंध

जल प्रदुषण पर एक विचारशील निबंध

Leave a Comment