ताजमहल पर एक सुंदर निबंध (2021)- Essay on Taj Mahal in Hindi

दोस्तो, आज हम ताजमहल पर निबंध (Essay on Taj Mahal in Hindi) जानेगे । यह निबंध आपको स्कूल, कॉलेज और कई जगहो पर काम आने वाला है ।

इस निबंध मे हम दुनिया के सात अजूबो मे से एक यानि ताजमहल के बारे मे जानेगे ।

इसके साथ-साथ यह भी समजेगे की, आखिर क्यो ताजमहल दुनिया की प्रमुख सात अजायबियों मे शामिल किया गया ?

हम पर भरोसा करें, ताजमहल पर निबंध पढ़ने के बाद शायद ही आपके मनमे इसके बारे मे कोई संदेह रहेगा ।

तो चलिए शुरू करते है ।

 

Essay on Taj Mahal in Hindi– ताजमहल पर निबंध

 

ताजमहल का इतिहास :-

परसिया नाम के एक देश की राजकुमारी थी, जिसका नाम मुमताज महल अर्थात अरजुमंद बानो बेगम था ।

कहा जाता है, की मुमताज महल एक सिपाही के प्रेम मे पागल थी और इन दोनों ने शादी भी करी थी ।

यह सिपाही मुगल शासक शाहजहाँ की सेना मे था । परंतु एक एक दिन शाहजहाँ की नज़र उस सिपाही की पत्नी यानि मुमताज महल पर पड़ी ।

मुमताज महल को देखते ही शाहजहाँ को प्यार हो गया । अब शाहजहाँ मुमताज महल से शादी करना चाहता था ।

परंतु जब तक वह सिपाही जिंदा था, तब तक मुमताज महल को पाना शाहजहाँ के लिए मुश्किल था ।

इसीलिए शाहजहाँ ने उस सिपाही की छल-कपट से हत्या करवा कर मुमताज से निकाह कर लिया ।

मुगल शासक शाहजहाँ ने मुमताज से पहले भी कई महिलाओ से निकाह किया था । देखते-ही-देखते मुमताज शाहजहाँ की सबसे प्रिय बेगम बन गई थी ।

परंतु अपने संतान को जन्म देते समय मुमताज की मृत्यु हो गई ।

इस खबर को सुन कर शाहजहाँ को बहोत दुख हुआ था । और यही से शाहजहाँ को ताजमहल के निर्माण करने का विचार आया था ।

 

ताजमहल कहा है ?

शाहजहाँ ने उत्तर प्रदेश (यूपी) के आगरा जिले मे ताजमहल को बनवाया था । आगरा उत्तर प्रदेश का तीसरा सबसे बड़ा शहर है ।

ताजमहल आगरा के किले से लगभग 2.5 KM की दूरी पर है ।

इसके अलावा ताजमहल को भारत की सबसे लंबी नदीयो मे से एक यानि यमुना के तट पर बसाया गया है ।

essay on taj mahal in hindi language

भारतीय, इस्लामिक और पारसी इन तीनों कलाओ का मिश्रण हमे ताजमहल मे देखने को मिला है ।

इसीलिए तो युनेस्को ने साल 2007 मे ताजमहल की सुंदरता को देखते हुए उसे विश्व विरासत के रुप में चिह्नित किया था ।

 

(सोशल मीडिया पर निबंध, जानना ना भूले)

 

ताजमहल का निर्माण कार्य :-

मुमताज की बेइंतहा प्रेम की निशानी के रूप मे शाहजहाँ ने ताजमहल का निर्माण करने का विचार किया था । इसीलिए तो ताजमहल को मुमताज़ का मकबरा भी कहते है ।

इसके लिए शाहजहाँ ने साल 1631 मे आधिकारिक रूप से ताजमहल के निर्माण की घोषणा करदी और 1632 मे ताजमहल का निर्माण कार्य भी शुरू कर दिया ।

ताजमहल के निर्माण के लिए देश-विदेश से प्रसिद्ध शिल्पकार और कारीगरों को बुलाया गया था ।

इसमे ईरान और विश्व के सबसे प्रसिद्ध शिल्पकार उस्ताद अहमद लाहौरी के अधीन ताजमहल का निर्माण कार्य किया गया था ।

paragraph on taj mahal in hindi

एसा माना जाता है की, लगभग 20000 कारीगरों ने ताजमहल के निर्माण मे कार्य किया था । और करीब 20 साल बाद साल 1653 मे ताजमहल का निर्माण कार्य पूरा हुआ था ।

इन 20 सालो मे ताजमहल पर 320 लाख रूपिये से ज्यादा पैसे खर्च किए गए थे । इन पैसो की आज की कीमत करीब 52.8 अरब रुपये है ।

और इस तरह ताजमहल जैसे ऐतिहासिक स्मारक का निर्माण किया गया था ।

शाहजहाँ के लिए ताजमहल न सिर्फ एक मकबरा था, बल्के अपनी प्यारी पत्नी मुमताज महल का एक घर था ।

और इसी की वजह से ताजमहल को प्रेम और प्यार का मकबरा भी कहते है ।

 

(मेरा प्रिय खेल क्रिकेट पर निबंध, एक बार जरूर पढे)

 

ताजमहल की सजावट और सुंदरता :-

सफेद संगमरमर से बनी हुई यह इमारत और उसके आस-पास का वातावरण बहोत ही आकर्षक है ।

ताजमहल के अंदर के भाग को पारंपरिक तरीके से सजाया गया है । इसके लिए कई कीमती रत्नो का उपयोग किया गया है ।  

ताजमहल के अंदर एक 8 कोणों का कमरा है । इसके अलावा ताजमहल की दक्षिण की दिशा में दरवाजे बनाए गए है ।

संपूर्ण ताजमहल का केंद्र मुमताज़ महल का मकबरा है । इस मकबरे को सफ़ेद संगमरमर से लगभग 42 एकड़ मे बनाया गया है ।

उसकी अंदर की दीवारे 25 मीटर ऊंची है ।

अंदर के भाग मे एक संगमरमर से निर्मित गुंबद है । इसी गुंबद के नीचे शाहजहां और मुमताज की कबरे है ।

ताजमहल की बाहर के सजावट भी कुछ कम नहीं है । उसकी बाहरी सजावट को मुगल वास्तुकला से सजाया गया है ।

बाहर सजावटी पत्थर और नक्सी काम बहोत जबरदस्त है ।

सजावटी घास और पेड़ की सुंदरता ताजमहल के बाहर भी एक खूबसूरत वातावरण देती है ।

essay in hindi on taj mahal

ताजमहल के बाहर एक बहुत बड़ा और ऊँचा दरवाजा है, जिसे हम बुलंद दरवाजा के नाम से जानते है । इस बुलंद दरवाजे को लाल पत्थरो से बनवाया गया था ।

इसके अलावा ताजमहल के सामने ही पानी के आकर्षक फुवारे लगाए गए है ।

ताजमहल की सुंदरता मे यमुना नदी का भी बहोत बड़ा भाग है ।

जब हमारे यहा चाँदनी रात होती है, तब ताजमहल की परछाई यमुना नदी के पानी मे पड़ती है । जिसकी वजह से एक अद्भुत नज़ारा दिखाई देता है ।

जब हम ताजमहल में प्रवेश करते है, तब द्वार पर एक बहोत ही सुंदर लेख लिखा हुआ है । (Essay on Taj Mahal in Hindi)

“हे आत्मा, तू ईश्वर के पास विश्राम कर और ईश्वर के पास शांति के साथ रहे तथा उसकी पूर्ण शांति तुझ पर बरसे ।“

इस लेख का श्रेय अमानत खां नामक एक फारसी लिपिक को जाता है ।

 

(दुनिया का सबसे खतरनाक वाइरस यानि कोरोना वायरस पर निबंध)

 

दुनिया के सात अजूबों मे से एक ताजमहल :-

ताजमहल की अद्वितीय विशेषता पूरी दुनिया को हमारी शानो-शौकत और संस्कृति की महानता दिखाती है ।

इसीलिए तो विश्व के कई देशों से लाखों लोग ताजमहल की सुंदरता को देखने आते है ।

स्विट्जरलैंड के न्यू वंडर्स फाउंडेशन ने साल 2000 से 2007 के दरमियान विश्व की लगभग 200 ऐतिहासिक इमारतों का एक सर्वेक्षण किया था ।

और कहा जाता है की, इसमे करीब 10 करोड़ से ज्यादा लोगों ने भाग लिया था ।

essay on visit to taj mahal in hindi language

इसी सर्वेक्षण के आधार पर साल 2007 मे ताजमहल को दुनिया के प्रमुख सात अजूबों में सम्मिलित किया गया था ।

ताजमहल की मुख्य चीज़ तो यह है की, 2007 से अब तक ताजमहल को सात अजूबों की श्रेणी से हटाया नहीं गया है ।

न्यू वंडर्स फाउंडेशन के साथ-साथ यूनेस्को ने भी ताजमहल और आगरा के किले को विश्व विरासत के रुप में चिह्नित किया गया था ।

ताजमहल इतना सुंदर है की, रबिन्द्रनाथ टैगोर भी इसकी सुंदरता पर दो शब्द लिखने के लिए मजबूर हो गए थे ।

रबिन्द्रनाथ टैगोर ने लिखा था की, ताजमहल संगमरमर का एक स्वप्न है ।

 

क्या अम्ल वर्षा से ताजमहल को नुकसान है ?

सामान्य पानी मे जब नाइट्रोजन और सल्फर के ओक्साइड्स मिल जाए, तब पानी की ph मान कम होने लगती है ।

इस समय अगर वर्षा हो जाए, तो वर्षा का जल और ओक्साइड्स के बीच एक रासायनिक क्रिया होती है ।

इस रासायनिक क्रिया से पानी मे ph मान घट जाती है और एसिड (अम्ल) की मात्रा पानी में बढ़ा देती है । और इसे ही अम्ल वर्षा या एसिड वर्षा कहते है ।

इसे विस्तार से समझे तो आगरा मे कई एसे कारखाने है, जो बहोत घातक रासायनिक पदार्थ निकालते है ।

इसी अम्ल वर्षा से ताजमहल को बहोत नुकसान हो रहा है ।

अम्ल वर्षा की वजह से ताजमहल के सफ़ेद संगमरमर पीला पड़ने लगे है । जिसकी वजह से ताजमहल धीरे-धीरे अपना सौन्दर्य खोने लगा है ।

अगर जल्द ही इस अम्ल वर्षा की समस्या के बारे मे सोचा नहीं गया, तो आने वाले समय मे हम ताजमहल की सुंदरता को पूरी तरह खो देंगे । 

परंतु अगर हमे अम्ल वर्षा से बचना है, तो हमे ज्यादा-से-ज्यादा पेड़ लगाने होंगे । (Essay on Taj Mahal in Hindi)

इसके अलावा अगर हम इन घातक रासायनिक पदार्थ वाले कारखानों को इसके बारे मे जागरूक करे तो शायद हम इस समस्या से निपट सकते है ।

 

ताजमहल से जुड़ी कुछ अफवाह :-

प्राचीन समय से लेकर आज तक ताजमहल को लेकर देश और विदेश मे कई अफवाहे फैली हुई है ।

जैसी की, शाहजहाँ ने ताजमहल बनाने वाले मजदूरों और कारीगरों के हाथ काट दिए थे ।

परंतु सच्चाई तो यह है की, शाहजहाँ ने ताजमहल बनाने वाले मजदूरों और कारीगरों को पूरी ज़िंदगी पगार देने का वादा किया था ।

इसके अलावा कई लोगो का यह भी मानना है की, ताजमहल का रंग समय-समय पर बदलता रहता है । (Essay on Taj Mahal in Hindi)

परंतु इसकी सच्चाई भी यह है की, दिन मे सूरज की रौशनी से ताजमहल चमकने लगता है और रात में चाँद की रौशनी से ताजमहल का रंग थोड़ा बदला हुआ नजर आता है ।

लेकिन इसका मतलब यह नहीं है की, ताजमहल अपने आप ही रंग बदलता है ।

 

निष्कर्ष :-

इतना सब कुछ जानने के बाद शायद अब आप लोगो को पता चल गया होगा की, आखिर क्यो ताजमहल दुनिया की प्रमुख सात अजायबियों मे शामिल किया गया था ?

सच मे, ताजमहल हमारे देश की एक अद्भुत रचना है । हम सभी देशवासियों को ताजमहल के इस अद्भुत स्मारक पर गर्व होना चाहिए ।

परंतु वर्तमान मे ताजमहल की हालत दिन-प्रतिदिन खराब होती जा रही है । इसके लिए हम सभी को आगे आकर ताजमहल की रक्षा करनी होगी ।

और अंत मे आपसे यही प्रश्न पूछना चाहता हु की, क्या आप लोग ताजमहल की रक्षा करेंगे या नहीं ? इसका जवाब कमेंट मे जरूर दे ।

 


 

आपको यह ताजमहल पर निबंध (Essay on Taj Mahal in Hindi) कैसा लगा ?

हमने पूरी कोशिस की है, ताकि आपको सरल ओर साधारण भाषा मे ताजमहल पर निबंध दे सके । लेकीन फिर भी आपको कोई समस्या हो तो आप हमे email करे ।

और अगर आपको इस निबंध से कुछ भी लाभ हुआ हो तो इसे शेर करना न भूले । (please share)

Thanks for reading Essay on Taj Mahal in Hindi 

 

READ MORE ARTICLES :-

 

घरेलू हिंसा पर निबंध

सड़क सुरक्षा पर निबंध

मेरा विद्यालय पर निबंध

योग का महत्व पर निबंध

डिजिटल इंडिया पर निबंध

ऑनलाइन शिक्षा पर निबंध

अहिंसा और युवा पर एक जबरदस्त निबंध

Leave a Comment