(2021) वृक्ष का महत्व पर निबंध- Essay on Importance of Trees in Hindi

प्रकृति ने पूरे विश्व को एक बहोत बड़ी भेट दी है, जिसे हम पेड़ या वृक्ष के नाम से जानते है । इस के बिना पृथ्वी पर जीवन असंभव है । क्योकि पेड़ लगाने से पृथ्वी पर ऑक्सीज़न की मात्रा बढ़ती है और मनुष्य को हानी पहुचाने वाले कार्बन डाइऑक्साइड की मात्रा मे कमी आती है । इससे हमारा वातावरण शुद्ध रहता है । इसीलिए पेड़ो को हरा सोना भी कहा जाता है । एक रिपोर्ट से पता चला की, पेड़ों के आस-पास रहने वाला व्यक्ति हमेशा स्वस्थ रहता है और पेड़ों से दूर रहने वाला व्यक्ति हमेशा बीमारियों से घिरा रहता है । इसी कारण हमे अपने जीवन मे अधिक से अधिक पेड़ लगाने चाहिए ।

 

पेड़ो का महत्व

पेड़-पौधे पर्यावरण का सबसे अनमोल प्राकृतिक संसाधन है । मनुष्य को हमेशा पेड़ो ने लाभ ही पहुंचाया है । जैसे की पेड़ो से हमें फल, फूल, ईंधन आदि प्राप्त होता है । पेड़ों के पत्तों, फूलों और जड़ों से दवाइयाँ बनाई जाती है, जो कई बिमारियों से निपटने के लिए उपयोगी है । इसीलिए पेड़ मनुष्य के सबसे घनिष्ठ मित्र है । मनुस्य के साथ-साथ पृथ्वी पर रहे जीव-जंतु भी पेड़ो पर निर्भर है । जैसे पशु जंगलों मे रहते है और पक्षी अपना घोंसला पेड़ों पर बनाते है । और भोजन तो उनके लिए पेड़ ही है ।

पेड़ सूर्य की रोशनी पर प्रकाश संश्लेषण की प्रक्रिया करके हवा से खुद कार्बन-डाइऑक्साइड लेकर हमें ऑक्सीजन प्रदान करते है । और हम सब को पता है की, ऑक्सीजन दुनिया के सभी जीवो के लिए अति-आवश्यक है । जबकि कार्बन-डाइऑक्साइड हमारे लिए हानिकारक है । अमेरिकी कृषि विभाग के अनुसार, एक बड़ा पेड़ हर दिन लगभग 230 लीटर ऑक्सीजन वातावरण में छोड़ता है, जो सात लोगों के लिए पर्याप्त है ।

vriksh ka mahatva

इसके अलावा जब गर्मियों का मौसम होता है, तब पेड़ हमें सूरज की तपती किरणों से बचाते है । पेड़ धरती के तापमान को भी बढ़ने से रोकते है ।

गाँवों में वृक्षो की हरियाली हमारे मन को मोह लेती है । चारों तरफ लहराते पेड़ बहुत ही खूबसूरत नज़ारा देतें है । शाम के समय इन पेड़ों से निकलने वाली ठंडी हवा मनुष्य की सारी थकान दूर कर देती है । परंतु शहरों में गाँवों की तरह हरियाली देखने को नहीं मिलती, क्योकि शहरो मे आधुनिकरण की वजह से काफी मात्रा मे पेड़ों को काटा जाता है ।

भारत जैसे देशों में वृक्षों का धार्मिक और आध्यात्मिक महत्व भी बहुत अधिक है । जैसे शादीशुदा महिलाएं संतान प्राप्ति के लिए बरगद के पेड़ की पूजा करती है । इसीलिए बरगद के पेड़ को जीवन दाता कहा जाता है । इसके अलावा पीपल के पेड़ को बोधी ट्री कहा जाता है, क्योकि भगवान गौतम बुद्ध को पीपल के पेड़ के नीचे ही ज्ञान प्राप्त हुआ था । इसी वजह से हमारे साधु-संत भी पीपल के पेड़ के नीचे बैठकर ही साधना करते है । आम के पेड़ की लकड़ी का प्रयोग हवन करने के लिए किया जाता है । भारत मे पूजा-पाठ, विवाह, त्योहार या मुख्य अवसरों पर पेड़ो का इस्तेमाल बहोत किया जाता है ।

पेड़ों का इस्तेमाल घर की हर छोटी-बड़ी वस्तुओं में भी किया जाता है । जैसे की घर का फर्नीचर, कागज़, रबर, औजार, प्लाई-बोर्ड और अनेक चीज़ों मे पेड़ो का उपयोग किया जाता है । पेड़ों के कारखानो से कई लोगो को रोजगार मिलता है । इस तरह पेड़ हमें रोजगार भी देते है ।

लेकिन वर्तमान समय मे मनुष्य विकास और आधुनिकता की दौड़ मे पर्यावरण को बहुत ज्यादा नुकसान पहुचाने लगा है । आज के समय में मनुष्य पेड़ों की अंधाधुंध कटाई कर रहा है । परंतु पेड़ो की कमी की वजह से आज हमें कभी अकाल तो कभी सुनामी जैसी स्थितियाँ देखने को मिलती है । अगर हमने जल्द ही पेड़ों की अंधाधुंध कटाई को नहीं रोका, तो भविष्य मे हमारे आने वाले बच्चो का जीवन बहोत कठिन हो जाएगा । इसीलिए हमे वृक्षारोपण करके ज्यादा-से-ज्यादा पेड़ लगाने चाहिए । 

 

पेड़ो को काटे जाने के प्रमुख कारण

मानव जनसंख्या में निरंतर वृद्धि के कारण हमारी रहने योग्य और कृषि योग्य भूमि काफी कम हो गई है । जिसकी वजह से लोगो ने रहने योग्य और कृषि योग्य भूमि की खोज शुरू कर दी, परंतु मानवो को कोई जगह मिली नहीं । उसके बाद लोगो ने वनो को काटना शुरू कर दिया । वनो को काट कर लोग वही रहने लगे और खेती करना भी उन्होने शुरू कर दिया । इसीलिए तो कहा जाता है की, आधुनिक मनुष्य पेड़ो के जंगल को काटकर पत्थरो का जंगल बना रहा है ।

इसके अलावा बड़े-बड़े साम्राज्य वाले लोगो ने सरकार की अनुमति लेकर जंगलो मे राक्षसी फैक्ट्रियों शुरू कर दी । इस वजह से भी पेड़ो को बड़ी दरिद्रता के साथ काटा गया है । हैरानी की बात तो यह है, कि आज भी यह प्रक्रिया बड़ी तेजी से जारी है । आज का मनुष्य अपने विकास और लाभ के लिए प्राकृतिक संसाधनो को खतम कर रहा है ।  

परंतु पेड़ो की कटाई से पर्यावरण को बहुत नुकसान हो रहा है । जैसे की आज भारत का वातावरण शुष्क होता जा रहा है, जिससे बारिश अनियमित हो गई है । अनिश्चित वर्षा से हर साल देश के कई राज्यो को बाढ़ का सामना करना पड़ता है, तो कई राज्यो को सूखे का । भारत के कई विस्तार में भूमिगत जल बहुत ही ज्यादा नीचे चला गया है । इस वजह से कई किसानों के पास न तो सिंचाई का पानी है और न ही पीने का ।

 

पेड़ो के फायदे

  • पेड़ मानव जीवन का अस्तित्व है, क्योकि इससे हम अपनी मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा करते है ।

 

  • इसके अलावा पेड़ो से हमे फल-फूल और अनाज प्राप्त होता है, जो हमारे दैनिक जीवन मे बहुत उपयोगी होते है ।

 

  • तुलसी, अश्वगंधा, आंवला, ब्राह्मी, नीम और अंकोल जैसे कई पेड़-पौधो से औषधियां बनाई जाती है, जिससे कई खतरनाक बीमारियों का इलाज किया जाता है ।

 

  • पेड़-पौधो की पत्तियां जहा गिरती है, वहा जैविक खाद बनता है । इससे भूमि बहुत उपजाऊ बनती है और फसले भी अच्छी होती है ।

 

  • पेड़ मिट्टी के कटाव को रोकते है, क्योकि पेड़ो की जड़ें मिट्टी को मज़बूती से पकड़े रखती है । इसकी वजह से प्राकृतिक आपदाओं का ख़तरा भी कम होता है । इसके साथ-साथ पेड़ों की जड़े बारिश के पानी को धरती के भूमिगत स्तर तक ले जाने का काम करती है ।

 

  • हमारे आस-पास जीतने भी पशु-पक्षी है, उनका घर और भोजन पेड़ है । पेड़ो के बिना इन जीवो की कल्पना करना बहुत मुश्किल है ।

 

  • पेड़ कार्बन डाइऑक्साइड और कार्बन मोनोक्सइड जैसी जहरीली गैसों को अपने अंदर अवशोषित करके हमे ऑक्सीज़न जैसी फायदा कारक गैस देते है ।

 

  • एक रिसर्च के अनुसार, पेड़-पौधे पूरे 1 साल मे लगभग 260 पाउंड (117 किलो) ऑक्सीजन वायु उत्पन्न करते है । और एक पौधा अपने पूरे जीवनकाल मे 1 टन से भी ज्यादा कार्बन डाइऑक्साइड वायु ग्रहण करता है ।

 

  • इसके अलावा दुनिया मे बसा हर इंसान मुफ्त मे इन पेड़ो से 78 लाख 84 हजार का ऑक्सीजन 1 साल में प्राप्त करता है । जबकि 26000 Km चलने पर एक कार जितना प्रदूषण करती है, उतना प्रदूषण एक पेड़ एक साल में अवशोषित करता है ।

 

  • पेड़ो से जो लकड़िया मिलती है उससे फर्नीचर, रबर और कागज जैसी कई चीजें मिलती है । ये सब चिज़े मानव अपने सामान्य जीवन मे उपयोग करता हैं ।  

 

  • किसानों को अच्छी फसल के लिए समय पर बारिश होना जरूरी है । पेड़ो की वजह से ही समग्र पृथ्वी पर समय से बारिश होती है । वृक्षो के कारण पृथ्वी का संतुलन बना रहता है ।

 

  • जल प्रदूषण, वायु प्रदूषण, भूमि प्रदूषण और ध्वनि प्रदूषण को कम करने के लिए हमे पेड़ो का सहारा लेना होगा और ज्यादा-से-ज्यादा पेड़ लगाने होंगे ।

 

  • इसके अलावा जो व्यक्ति हरे और घटादार पेड़ो के आस-पास रहता है, उसके अंदर एक सकारात्मक ऊर्जा होती है । इसके साथ-साथ पेड़ हमारे शरीर की इंद्रियो को ज्यादा खुलने मे भी मदद करता है ।

 

  • इस तरह पेड़ हमारे लिए बहुत उपयोगी है । लेकिन मनुष्य सिर्फ इन पेड़ों से लाभ उठाना जानता है । पेड़ो का संरक्षण करना और अधिक पेड़ लगाना मानवी ने सीखा ही नहीं । आज का मानव बहुत तेजी से आधुनिकता की ओर बढ़ रहा है और बहुत ज्यादा मात्रा मे वृक्षो को नुकसान पहुंचा रहा है । अगर हमने जल्द ही इस पर ध्यान नहीं दिया तो हमारा भविष्य खतरे में है ।

 

पेड़ों को काटने से क्या-क्या हानि होती है?

  • हमने वृक्षो से होने वाले फ़ायदों को जाना, लेकिन इन वृक्षों की कटाई से हो रहे विनाशकारी परिणामो को हम बिल्कुल नज़रअंदाज़ नहीं कर सकते ।

 

  • दिन-प्रतिदिन मनुष्य की जनसंख्या बढ़ती जा रही है, इसके साथ-साथ उसकी लालच भी बढ़ती जा रही है । जिसकी वजह से मनुष्य लगातार वनों का विनाश कर रहा है ।

 

  • कई सौंदर्य से भरे वनों को मानवी ने वेरान बना दिया है । इसलिए आज कई हरियाली से भरे वन रेगिस्तान मे बदल चुके है ।

 

  • वनों का विनाश होने से कई जीव-जंतु और पशु-पक्षी बेघर होते जा रहे है । जंगली और खूंखार जानवर भी बस्ती वाले इलाको मे आकर मनुष्य को हानी पहुंचा रहे है, क्योकि उनका घर और भोजन मनुष्य ने छिन लिया है ।

 

  • पेड़ो की कमी से जल चक्र असंतुलित हो जाता है । जिससे कभी बहुत कम तो कभी बहोत ज्यादा वर्षा होने लगती है । इस अनिश्चित वर्षा के कारण कृषि मे नुकसान होने की संभावना रहती है ।

 

  • वृक्षो की कमी से वातावरण में कार्बन डाइऑक्साइड गैस की मात्रा बढ़ने लगेगी, जिससे पृथ्वी का तापमान भी बढ़ेगा । बढ़ते तापमान की वजह से ग्लेशियर (हिमनदी) पिघलकर पानी मे बदल जाएंगे, जिससे समुद्र का जल स्तर बढ़ेगा । इसी की वजह से सुनामी, भूकंप और कई प्रकार के कुदरती प्रक्रोप आने की संभावना रहती है ।

 

  • वनो की कटाई से जल, वायु, भूमि और ध्वनी प्रदूषण तेजी से बढ रहा है । इन्हीं खतरनाक प्रदूषण के कारण आज कई तरह की नई बीमारियां आने लगी है ।

 

  • एक रिसर्च से पता चला की, वनो की कटाई से हर साल पृथ्वी का तापमान 1 से 2 डिग्री बढ़ रहा है । इसीलिए तो आज भारत के कई भीड़-भाव वाले क्षेत्रों मे लोगो को सांस लेने मे मुश्किल हो रही है । इसके अलावा पेड़ों को काटने से और भी कई नुकसान होते है ।

 

पेड़ों की कटाई रोकने के उपाय

अगर मनुष्य को इस धरती पर जीवित रहना है और अपना अस्तित्व बनाए रखना है, तो हमे पेड़ों को बचाना ही होगा । इसके लिए हमें सबसे पहले पेड़ को आग और लकड़ी तस्करों से बचाना होगा । इससे बड़ी संख्या मे पेड़ों को बचाया जा सकता है ।

essay on importance of trees in hindi

हमे वृक्षारोपण जैसे कार्यक्रम करके लोगों को वृक्षों के प्रति जागरूक करना होगा । इसके लिए अगर हर महीने खाली भूमि मे वृक्षारोपण के अभियान चलाये जाए तो हम कई लोगों को जागरूक कर सकते है । इसकी वजह से लोगो मे पेड़ो को लगाने का एक उत्साह भी आयेगा । अक्सर यह देखा गया की, गांवों की तुलना में शहरों में ज्यादा पेड़ काटे जा रहे है । इसके साथ-साथ शहरो मे रहने वाले लोगो को बीमारिया ज्यादा होती है । इसीलिए हमे शहरो मे वृक्षारोपण के अभियान ज्यादा करने चाहिए ।

सरकार को भी पेड़ों की सुरक्षा के लिए कुछ सख्त कानून बनाने चाहिए । जैसे कोई व्यक्ति अगर बिना जरूरत के पेड़ काटता है, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई होनी चाहिए । ताकि फिर से कोई व्यक्ति पेड़ काटने के बारे मे सोचे नहीं । इसके अलावा वृक्षों के महत्व को विद्यार्थियों के पाठ्यक्रम में अवश्य शामिल करना चाहिए । क्योकि जब एसे छात्र बड़े होंगे तब वह पेड़ो की रक्षा जरूर करेंगे ।

अगर आज हम खुद एक छोटा कदम उठाकर पेड़ो को बचाएंगे तो कल दुनिया का हर इंसान हमारा साथ देगा । परंतु यह कितना दयनीय है की, जिन पेड़ो से हम हथियार बनाते हैं उसी पेड़ो से हम उनको काटते है । हमें इनकी रक्षा करनी होगी अन्यथा हमारी आने वाली पीढ़ियों को इस दुनिया मे प्रकृति से बहुत नुकसान उठाना पड़ेगा ।

 

निष्कर्ष

पेड़ प्राचीन काल से ही मानव और पशु जीवन का अभिन्न अंग रहे है । भारतीय संस्कृति मे पेड़ो को पूजा जाता है, क्योकि समय के हर पहलू में पेड़ों ने हमारा साथ दिया है । परंतु इतनी सुख-समृद्धि देने के बाद भी बदले में हमने पेड़ो को सिर्फ विनाश ही दिया है । लेकिन याद रखना की, जब इस पृथ्वी पर पेड़-पौधे नष्ट हो जाएंगे, तब पृथ्वी पर रहने वाले सभी जीव भी नष्ट हो जाएंगे । इसी को ध्यान मे रखकर और भारत का एक जिम्मेदार नागरिक बनकर हमे पेड़ो का विकास करना होगा । तभी हम इस धरती पर अपना अस्तित्व बना पाएंगे ।


अगर आपको इस निबंध से कुछ भी लाभ हुआ हो, तो इसे share करना ना भूले । वृक्ष का महत्व पर निबंध पढ़ने के लिए आप सभी का धन्यवाद (importance of trees in Hindi essay)

 

अन्य निबंध पढे :

 

वृक्षारोपण पर निबंध

मेरी माँ पर निबंध

ऑनलाइन शिक्षा पर सर्वश्रेष्ठ निबंध

समय का महत्व पर निबंध

शिक्षा का महत्व पर निबंध

मेरे सपनों का भारत पर निबंध

ग्लोबल वार्मिंग पर निबंध

घरेलू हिंसा पर निबंध

योग का महत्व पर निबंध

कचरा प्रबंधन पर निबंध

गणतंत्र दिवस पर भाषण

Leave a Comment