सफलता की जबरदस्त रहस्यमय कहानी- Short moral stories in Hindi

दोस्तो, आज हम सफलता की जबरदस्त रहस्यमय कहानी (Short moral stories in Hindi) को विस्तृत मे जानेगे । यह कहानि क्लास 7-8-9-10 के लिए बहोत उपयोगी है ।

इस कहानी की शुरुआत करने से पहले मे आपको एक प्रश्न पूछना चाहता की, क्या क्या आपको हर काम में लगातार असफलता मिल रही है ?

आज हमारी कहानी का विषय एक गलतफ़हमी से शिकार लोगो को उसकी सच्चाई और हकीकत दिखाना है ।

अगर आपको भी हर काम में लगातार असफलता मिल रही है ? तो इस कहानी को अंत तक जरूर पढे । आपको इस प्रश्न का जवाब जरूर मिल जाएगा ।

कई लोग सोचते होंगे की मेरा नसीब या मेरा ईश्वर कभी भी मेरा साथ नहीं देता । इसीलिए हमे बार-बार निष्फलता मिल रही हे ?

अधिकांश महान लोगों ने अपनी सबसे बड़ी सफलता अपनी सबसे बड़ी विफलता से सिर्फ एक कदम आगे हासिल की है ।

भगवान ने किसी भी मनुष्य को यह आशीर्वाद नहीं दिया कि, उसका जीवन हमेशा विपत्ति के बिना रहेगा ।

जीवन मे सुख ओर दुख गाड़ी के दो पैयों के समान है । कभी सुख तो कभी दुख ज़िंदगी मे आना हि हे ।

अगर कोई व्यक्ति मेहनत करता हे तो उसके जीवन में सफलता जरूर आएगी और अगर वो मेहनत मे कमी या कुछ गड़बड़ हो तो असफलता भी आती हे ।

लेकिन साहसिक व्यक्ति वो हे जो कभी हार न मानकर हमेशा सफलता पाने के लिए कड़ी मेहनत करे ।

अगर कोई व्यक्ति निरंतर और धैर्य के साथ मेहनत के रास्ते पर चलता रहेगा तो जल्द ही उसको सफलता मिलेगी ।

इसको अमेरीकन राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन के उदाहरण से समजते है ।

अमेरीकन राष्ट्रपति अब्राहम लिंकन ने कई विफलताओं की एक श्रृंखला के बाद संयुक्त राज्य अमेरिका के राष्ट्रपति का ताज पहना ।

वो जब राष्ट्रपति बनने के लिए जुज़ रहे थे, तब उनके साथ एक-के-बाद एक असफलताओं का सिलसिला जारी था बल्के बढ़ता ही चला जा रहा था ।

फिर भी वो बिना हिम्मत हारे अपना लक्ष्य हासिल करने के लिए निरंतर जूटे रहे ओर कड़ी मेहनत के बाद आखिर साल 1961 मे अमेरिका के 16 वे राष्ट्रपति के तोर पर जीत हासिल की ।

पांडवों के बारे मे तो आपको पता ही होगा की उनके भाग्य मे तो निरंतर पीड़ा और पीड़ा ही थी । लेकिन पांडव भी बिना विचलित हुए अपनी सफलता के लिए संघर्ष जारी रखा और अंत मे विजयी हुए ।

इसलिए आशावादी लहजे के साथ किसी ने कहा कि, मुझे जीवन मे कई असफलताएं मिली ।लेकिन उसी असफलता से मैने जीवन में सफलता पाई है ।

और आप असफलताओं के बारे में चिंता न करे, आप उन अवसरों के बारे मे चिंता करें जब आप कोशिश भी नहीं कर रहे थे ।

यदि असफलता को अभिशाप के बजाय एक चुनोती के रूप में देखा जाए तो हमारे लिए उनको जेलना थोड़ा आसान हो जाएगा । हमारे अंदर से एक आत्मविश्वास पेदा होगा ।

भगवान ने दुनिया में एक भी आदमी एसा नहीं बनाया जो हमेशा अपने जीवन मे असफलता ही पाएगा । वो आपको इसी लिए असफल करता हे ताकि आगे कोई बड़े पहलवान के सामने गिर न जाओ ।

वो आपको इसीलिए करता हे ताकि आप मजबूत बनो और आप अपनी व्यवसाय (field) मे बादशाह बन जाओ ।

अगर कई असफलताओ के बाद जब आपको सफलता मिलेगी तो आपको हराने वाला कोई नहीं होगा । यह मेरी नहीं ऊपर वाले की गेरंटी है ।

लेकिन यहा तो मनुष्य स्वयं ही स्वयं का मूल्यांकन करता है । इसी कारण वो अपनी निष्फलताओ की भी गलत व्याख्या करता है । और अंत मे वो इन सामान्य असफलता से हार मान जाता है ।

एक वेज्ञानिक अपनी खोज को सफल बनाने के लिए कितनी बार असफलता का सामना करते है । फिर भी वो निराश हुए बिना अपनी शोध के उद्देश्य से चिपके रहते है । परिणामस्वरूप वो अंत मे सफल भी होजाता है ।

किसी ने क्या खूब लिखा हे की, असफलता सिर्फ एक चक्कर है, मृत्यु और अंत वाली सड़क नहीं । लेकिन फिर भी कुछ लोगो ने असफलता को बहोत जलील किसम का विचार और सिद्धांत (concept) क्यू दिया है ?

याद रखना की लगातार घर्षण लकड़ी को जला देती है, निरंतर बहने वाली नदियों का तेज प्रवाह चट्टानों को भी फाड़ देता है ओर जो लोग असफलताओ से लड़ने मे तल्लीन हैं उन्हें अपने श्रम का फल अवश्य प्राप्त होता है ।

क्या लगता हे आपको की सफलता आसान काम है ?

असफलता सफलता के विपरीत नहीं है, यह सफलता का ही हिस्सा है । लेकिन इसके लिए त्याग ओर समर्पण के साथ-साथ धैर्य की भी आवश्यकता होती है ।

किस तरह हमारे महात्मा गांधीजी ने विभिन्न चरणों में कई कठिनाइयों, यातनाओं, और असफलताओं से पार पाकर भारत को स्वतंत्रता दिलाने का सपना साकार किया था ।

हमे यह विचार करने की जरूरत हे की, आज हमे देश तो आज़ाद नहीं करवाना लेकिन देश का विकास करने के लिए थोड़ा योगदान देना तो जरूरी है ।

गांधीजी सफलता को धर्म और उपकरणों की शुद्धि का संयोजन कहते है । जिसका काम शुद्ध है और जिसका साधन भी शुद्ध है, उसे विश्वास होना चाहिए कि वो निश्चित सफलता मिलेगी ।

moral stories for kids in hindi

अगर एसे व्यक्ति को सफलता न भी मिले तो वो हताश नहीं होता । बल्के यह सोचता हे की मुजमे ही कोई कमी होगी और मेरा ही अनुमान कहीं-न-कहीं गलती होगा ।

स्वामी विवेकानंद की सफलता की व्याख्या अनुसार पवित्रता, धैर्य और अध्ययन ये तीन गुण एस हे जो सफलता की और ले जाते है ।

योग्य आदमी का हमेशा के लिए असफल होना दुर्लभ है । अगर कोई व्यक्ति अपनी पूरी ताकत के साथ लक्ष्य के लिए समर्पित हो जाए तो वह असफल नहीं हो सकता ।

क्योकि अधूरे मन और टूटे हुए उत्साह के साथ मनुष्य कभी भी सफल नहीं हो सकता । (Short moral stories in Hindi)

बिना पूर्व तैयारी के छलांग लगाने से सफलता के बजाय असफलता ही मिलती है । याद रखें कि, सफलता वो रास्ता हे जो असफलता की गली मे से होके गुजरता है । सफल व्यक्ति कभी हारता नहीं क्योकि सफलता ही उसका लक्ष्य है ।

अब, जब यह सफलता और भाग्य की बात आती है तो शास्त्र कहते हैं कि, पुरुषार्थ के बिना तो नसीब हमारे आगे-पीछे नहीं पनपेगा । इसलिए मनुष्य को सबसे पहले मेहनती होना चाहिए, तभी नसीब कुछ काम करेगा ।

लेकिन जो मेहनत नहीं करना चाहते ओर सिर्फ नसीब के भरोसे ही बेठे रेहते हे उनको कभी भी सफलता का स्वाद चखने नहीं मिलेगा ।

जितना कठिन काम आप करेंगे, उतना ही सौभाग्य आपको ज़िंदगी मे ओर मिलता जाएगा है ।

आखिर मे आपसे पूछना चाहता हु की क्या अब आप लोगो को लगता हे की हर काम में लगातार असफलता मिलती है तो, क्या इसे भाग्य का बलिदान कहे या कौशल की कमी ?

मुजे लगता हे की, इसका जवाब अब आप लोगो को मिल गया होगा । हमे असफलता मिलती हे तो ये हमारा कौशल की ही कमी हो सकती है । वरना नसीब तो हमारी मेहनत के बाद ही आता है ।

जितनी मेहनत हम करते है उसी के हिसाब से हमारी तकदीर लिखी जाती हे ।

अब मे आखिर मे आपसे पूछना चाहता हु की आपको ये Short moral stories in Hindi कैसा लगा ?

हमने पूरी कोशिस की है, ताकि आपको मज़ेदार कहानी Short moral stories in Hindi के लिए दे सके ।

लेकीन फिर भी आपको कोई समस्या हो तो आप हमे email करे । आपको ओर भी किसी विषय पर कहानी चाहिए तो कॉमेंट मे जरूर बताए ।

ओर इस Short moral stories in Hindi को अपने दोस्तो के साथ जरूर शेर करे । (please share)

Thanks for reading Short moral stories in Hindi

 

READ MORE ARTICLES :-

क्या तनाव ही मानसिक बीमारी का कारण है, जानने के लिए- click here 

दुनिया को बर्बाद करने वाला एक बड़ा कारण जानने के लिए- click here करे

अमेरिकी तटरक्षक क्यो इतनी खतरनाक है ।

Leave a Comment