मेरी प्यारी माँ पर निबंध- Essay about Mother in Hindi

दोस्तो, आज हम मेरी माँ पर निबंध (Essay about Mother in Hindi) को विस्तृत मे जानेगे । यह निबंध आपको स्कूल के हर क्लास ओर कॉलेज मे काम आने वाला है ।

माँ एक महिला को निर्दिष्ट करता शब्द है । इसका कोई संक्षिप्त रूप नही है ।

इस दुनिया का कोई भी व्यक्ति अपनी माँ से ज्यादा प्यार किसी को नहीं करता । और हमारी भारतीय संस्कृति मे, माँ ही सबकुछ होती है ।

हम पर भरोसा करें, मेरी माँ पर निबंध को पढ़ने के बाद शायद ही आपके मनमे इसके बारे मे कोई संदेह रहेगा ।

तो चलिए शुरू करते है ।

 

मेरी माँ पर निबंध- About my mother in Hindi

 

प्रस्तावना :-

वैसे देखा जाय तो स्त्री के कई रूप हे, जैसे दादी, चाची, बहू, बेटी, पौत्री आदि । लेकिन जब वो एक माँ के रूप में होती हे तब इसका रूप ही बदल जाता है ।

माँ यानि एक ऐसी महिला जो एक बच्चे की जन्म से लेकर मृत्यु तक सारी चीज़ों की देखभाल करती है । फिर वो शारीरिक हो या भावनात्मक ।

यदि आप इस शब्द पर लिखने बैठे तो आपके ज़िंदगी के कई साल बीत जाएंगे । और अगर आप इसे समझने के लिए बैठे तो आपका पूरा जीवन इसमे समाप्त हो जाएगा । इतना सब-कुछ सिर्फ एक शब्द मे समाया है ।

माँ यानि दूसरों को खुशी देकर बड़े-से-बड़े गम को सहने की ताकत रखना । माँ एक बच्चे की रक्षक, अच्छी अनुशासक और एक बेहतर दोस्त है ।

वो अपने बच्चे और परिवार के लिए पूरी दुनिया से लड़ने के लिए तैयार हो जाएगी । माँ एक एसा आशीर्वाद है जिसे कोई भी बदल नहीं सकता ।

माँ के गुण क्या है ?

अगर माँ के सभी गुणो को हम यहा लिखने बेठे तो इस पर पूरा एक निबंध लिख सकते है । क्योकि वो खुद अपने आप मे एक गुण है ।

जिस दिन एक महिला शादी करके अपने ससुराल जाती हे तब वो एक नए परिवार के साथ अपनी नयी ज़िंदगी की शुरूआत करती है ।

वो अपना सारा जीवन अपने बच्चों और परिवार की देखभाल के पीछे व्यतीत कर देती है । एक माँ के अंदर प्यार, देखभाल, अच्छा दिल, बहादुरी, मेहनती और समझदारी जैसे कई गुण होते है ।

meri ma par nibandh

माँ की समजदारी का तो कहना ही क्या ? वो अपने बच्चे के दृष्टिकोण से चीजों को देखने की कोशिश करती हे ताकि बच्चे को कोई परेशानी न हो ।

वो अपने बच्चे के अंदर इतनी गुल जाती हे की वो भी एक बच्चा बन जाती है ।

धीरज ओर धैर्य ये दोनों गुण एक माँ के अंदर कूट–कूट के भरे होते है । वो हमारी माता कम और दोस्त ज्यादा होती है । (Essay about Mother in Hindi)

वो अपनी ज़िंदगी के हर काम को सबसे अच्छा करने की कोशिस करती हैं । ताकि घर के किसी सदस्य को कोई समस्या न हो । वो अपने बच्चे को कठोर परिस्थितियों मे रहना सिखाती है ।

एसा भी नहीं हे की वो सिर्फ बच्चो को लाड-प्यार ही करती है । बच्चो की बड़ी गलतीयो पर वो मारना भी जानती है ।

लेकिन मारने के कुछ देर बाद उसे फुसलाना और गलती को समजाने की कोशिस भी करती है । और ऐसे कई गुण एक माँ के अंदर है । लेकिन अगर हम वो सब लिखने लगे तो यह निबंध शायद खतम ही ना हो ।

माँ हमारे जीवन में महत्वपूर्ण क्यों है ?

दुनिया मे ईश्वर ने एक मशीन बनाकर उसको महत्वपूर्ण भूमिका और विशेषाधिकार दीये । उसे भगवान ने दूसरो की मदद करने के लिए ही भेजा है । और उस मशीन का नाम माँ है ।

कई लोगो ने अनुभव किया की, जब छोटे बच्चे बोलते नही हे तब एक माँ उनकी चूपी को महसूस कर सकती है । वो खामोश बच्चे को समजती है ।

मदर मेड द डिफरेंस टी.डी जेक की पुस्तक है । इसे जीवन मे आपको एक बार जरूर पढ़नी चाहिए । क्योकि उसमे जो माँ की लक्षणिकता दिखाई हे, वो एकदम अद्भुत है ।

essay about mother in hindi

जीवन की विद्यालय मे एक माता जबरदस्त शिक्षक होती है । उन्होने ही हमे इतिहास बदलने वाले व्यक्ति दिए है ।

इतना सब कुछ जानने के बाद आप सब के मनमे प्रश्न आता होगा की, आखिरकार माँ का दिल इतना कोमल, कर्तव्यनिष्ठा और करुणा से कैसे भरा हुआ है ? लेकिन इसका जवाब दुनिया के किसी भी व्यक्ति के पास नही हे ।

एक दुःखी, एकाकी और भयभीत व्यक्ति के पास कोई हो या न हो, लेकिन उसकी माँ का हाथ हमेशा उसके चारों ओर लिपटा रहता है ।

एक माता निर्बल व्यक्ति को भी खुद पर विश्वास करना सिखा सकती है । क्योकि वो अपने अनुभव से जानती हे कि किसी को मजबूत, स्वस्थ और आत्मविश्वासी कैसे बनाना है ?

मेरी माँ ने अपने जीवन में बहुत ही कठिन-से-कठिन दिनों को सहन किया है । और मुजे भी कठिन परिस्थितियों में रेहना सिखाया है ।

माँ एक कुम्हार है । वो बच्चो को अपने दिल की कोमल मिट्टी से एक इतिहास बदलने वाले व्यक्ति के रूप मे आकार देती है ।

आज मैं कौन हूं ? कल मे क्या हुंगा ? और भविष्य मे क्या करूंगा ? ये सब का आकार एक व्यक्ति निश्चित करता है । और वो है माँ । (Essay about Mother in Hindi)

बिगड़े हुए बच्चे को संभालने के लिए वो कभी मूर्तिकार भी बन जाती है । वो जानती हे की कैसे हथौड़ों, छेनी और चाकू जैसे साधनो का उपयोग करके अपने बिगड़े हुए बच्चो को ठीक करना है ।

स्पेनिश मे एक बहोत अच्छी कहावत है की, माँ का एक औंस पुजारी के एक पाउंड से भी ज्यादा है । इसीलिए एक माँ की प्रार्थना हजारो उपहार और कई खजानो से बेहतर है ।

यदि आपको माँ का महत्व पूछना हे तो एसे व्यक्ति और एसे बच्चे से पूछिए जिसके पास माँ नहीं है । 

ज़िंदगी मे एक बात जरूर याद रखना की, बाप बच्चे की दुनिया रचता हे, लेकिन माँ बच्चे की आंतरिक आत्मा का निर्माण करती है ।

अपने परिवार की हर छोटी से बड़ी चीज़ का ख्याल एक माँ रखती है । इस तरह माँ एक बच्चे के भगवान समान है ।

माँ की भूमिका क्या है ?

हम सभी इस कहावत से परिचित होंगे की माँ घर की रोशनी है

और जब एक घर की रोशनी चली ज़ाती हे तब चारो और अंधेरा-ही-अंधेरा हो जाता है । इसके कारण कोई भी व्यक्ति कभी भी रास्ता भटक सकता है ।

इसी से आपको अंदाजा आ गया होगा की एक माँ की भूमिका क्या है । यू कहा जाता हे की, जिस पल बच्चा पैदा होता हे तभी माँ भी फिर से जन्म लेती है ।

essay for kids on my mother in hindi

इस से पहले वो कभी माँ के रूप मे नहीं थी । वो तो पहले किसी की बेटी और बहू थी । लेकिन बच्चे के आने से ही वो एक माँ बनी ।

लेकिन फिर भी आपको इस प्रश्न का उत्तर चाहिए तो मन में सिर्फ एक बार यह सोचें की अगर मां नहीं होती तो भगवान यह दुनिया कैसे बनाता ? (Essay about Mother in Hindi)

क्योंकि दुनिया के सभी ताकतवर और शक्तिशाली इंसान को भी अपने जीवन के शुरुआती 9 महीने माँ के पेट मे रहना ही पड़ता है । अगर माँ इस दुनिया मे ना हो तो इस दुनिया की कल्पना हम कैसे कर सकते है ?

एक माँ अपने बच्चों का पालन-पोषण करती है । वो बच्चो के दिलों में प्यार और अच्छाई को जागृत करती है । यह हमारी माताओं की कुछ भूमिकाएँ थी । लेकिन क्या माँ के लिए हमारी कोई भूमिका नहीं है ?

हमारी माताओ ने बच्चे के जन्म समय अपने जीवन को खतरे में डाला, हमे हर कठिन समय मे एक सहारा देकर ऊपर उठाया और लगातार हमे मार्गदर्शन और प्यार किया ।

इन सबके लिए हमें उन्हें आभार, सम्मान और अपना भरोसा देना चाहिए । हमे उनसे साहस, शक्ति और आशा के पाठ सीखने चाहिए । वह हमेशा अपने परिवार वालो को खुश करने की कोशिश करती है ।

मां जितनी महत्वपूर्ण है, क्या पिता भी उतने ही महत्वपूर्ण है ?

आप चाहे कितने भी बड़े क्यो न होगए हो लेकिन आपके मनमे यह प्रश्न तो जरूर आया होगा की क्या हमारी माँ जितनी महत्वपूर्ण है, उतने ही क्या हमारे पिता भी है ?

अगर देखा जाय तो ज्यादातर कविताए माँ पर लिखी गई है । कई नाटक, साहित्य, कहानीया भी माँ पर थोड़ी ज्यादा है ।

meri pyari ma par nibandh

ये सारे लेखको और कवियों को जाने तो हमे पता चलता हे की वो अपनी माँ की तरफ थोड़ा ज्यादा जुकाव रखते थे ।

और आज के आधुनिक युग मे आप फेसबुक, इंस्टाग्राम, और व्हाट्सएप पर जांच कर सकते हो की माँ पर ज्यादा कंटैंट खोजा जा रहा है और पोस्ट किया जा रहा है ।

अब इसका जवाब आप देंगे की, आखिर क्यों इतना सारा कोंटेंट माँ पर ही लिखा जाता हे और खोजा जाता है ? अब इसका जवाब मुजे comment मे आप देंगे । (Essay about Mother in Hindi)

लेकिन आधुनिक युग की इस लालची दुनिया मे माता के शब्द को कम आंका जा रहा है ।

कुछ रिपोर्टों के अनुसार, वृद्धाश्रमों मे महिलाओं की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ रही है । आखिर क्यू ? क्या कमी रखी आपके पालने मे ? क्या नहीं करती एक माँ अपने बच्चे के लिए ?

याद रखना मेरे दोस्त की, माँ के जाने पर हमारे लिए प्रार्थना करने वाला कोई नहीं होता, और पिता के जाने पर हमे प्रोत्साहित करने वाला कोई नहीं होता ।

निष्कर्ष :-

इतना सब कुछ जानने के बाद अब आपको पता तो चल ही गया होगा की एक माँ का हमारे जीवन मे क्या मूल्य है ।

अंत मे बस हम सभी भगवान से यही प्राथना करते हे की, हे भगवान बस मुझे इतना सक्षम बना दो कि मे अपने माता-पिता को हमेशा खुश रख सकु ।

जिस तरह बचपन मे हमारे माँ-बाप ने हमे पाला-पोसा वैसे ही उनके बुढ़ापे मे उनको बहोत खुश रख सकु । ओर अगर आप भी अपने माता-पिता को खुश रखेंगे तो yes करके इसका जवाब comment मे जरूर दे ।

अब मे आखिर मे आपसे पूछना चाहता हु की आपको ये मेरी माँ पर निबंध (Essay about Mother in Hindi) कैसा लगा ?

हमने पूरी कोशिस की है, ताकि आपको सरल ओर साधारण भाषा मे मेरी माँ पर निबंध को दे सके ।

लेकीन फिर भी आपको कोई समस्या हो तो आप हमे email जरूर करे । आपको और भी किसी विषय पर निबंध चाहिए तो कॉमेंट मे जरूर बताए ।

अगर आप अपनी माँ को बहोत प्यार करते है और दिल से चाहते है, तो इस लेख को अपने दोस्त-परिवार मे जरूर शेर करे । (please share)

Thanks for reading Essay about Mother in Hindi

 

READ MORE ARTICLES :-

 

दुनिया को बर्बाद करने वाला बड़ा कारण

मेरा प्रिय मित्र निबंध

हमारे प्यारे बापू यानी महात्मा गांधी पर निबंध

अमेरिकी तटरक्षक दिवस 

Leave a Comment