शिक्षक दिवस पर भाषण-teachers day speech in hindi

teachers day speech in hindi

आज हम teachers day speech in hindi यानि शिक्षक दिवस के बारे मे जानेगे ।

शिक्षक दिवस के मौके पर स्कूल, कॉलेज ओर विश्वविद्यालय में स्पीच-भाषण का आयोजन किया जाता है । लेकिन आप भी शिक्षक दिवस पर स्पीच देने का विचार कर रहे है ओर इसकी तलाश मे हैं तो यहां हम आपकी मदद करेंगे ।

हम पे विश्वास रखिए, यदि आपने हमारे दिये गए इस पोस्ट को पूरा पढ़ा तो आपके भाषण (स्पीच) से सारे लोग बहोत खुस होंगे ओर चारो तरफ तालियों की आवाज गूंज उठेगी ।

आपके स्कूल, कोलेज, यूनिवर्सिटी आदि जगह पर अगर आपको बोलने का अवसर मिलता हे तो इसे जाने न दे । क्योकि इस से आपके अंदर लोगो के सामने बोलने की skill develop होगी ओर communication भी आपकी बेहतर होगी ।

आप चिंता न करे एक सुनियोजित स्पीच कैसी होती है, आपको स्पीच मे क्या बोलना हे वो सब कुछ हम आपको सिखाएँगे ?

अपनी स्पीच को शुरू करने से पहले आप मंच पर जाकर सभा में उपस्थित सभी लोगों का अभिवादन करें । उसके बाद अपना परिचय दें, अपना नाम ओर कौन-सी कक्षा में पढ़ते हैं वो भी बताएं ।

लेकिन आप स्कूल मे नहीं किसी अन्य आयोजन में स्पीच दे रहे हैं तो अपनि संस्था का नाम भी बताएं । वहा पे मोजूद सभी लोगो को शिक्षक दिवस की शुभकामनाएं दें ।  

उसके बाद आप अपने आयोजनकर्ता या शिक्षक का धन्यवाद करें जिन्होंने इस महान अवसर पर मंच पर आकर आपको बोलने का मौका दिया ।

स्पीच के दरमियान अपने किसी प्रिय टीचर के बारे में बताए या उनसे जुड़ी किसी घटना को ही अपनी स्पीच में बता दे ।

इसके अलावा अपनी स्पीच मे ये भी बताए की शिक्षक की अहमियत छात्र के जीवन में क्या होती है । शिक्षा के क्षेत्र में जिन हस्तियो का अतुलनीय योगदान है उनके बारे मे भी बता सकते है ।

तो चलिये अब teachers day speech in hindi को शुरू करते है ।

अब अपनी स्पीच शुरू करे :

आदरणीय शिक्षकगण और मेरे सभी प्यारे दोस्तों । सबसे पहले मैं आप सभी को teachers day की शुभकामनाएं देता/देती हूं ।

शिक्षक दिवस पर कुछ भी बोलना ये मेरे लिए सौभाग्य है । इसीलिए मे आप सब का धन्यवाद कहना चाहूंगा । मेरा नाम ______ है और मैं कक्षा __ में पढ़ता हूँ ।

मैं आभारी हूं उन सभी शिक्षको का जिन्हों ने आज के इस अवसर पर मुझे अपने विचार रखने का मौका दिया ।

हम सब को पता हे की आज हमारे एकत्र होने का कारण क्या हैं । लेकिन फिर भी मे बताना चाहूँगा की, आज हम हमारे देश के भविष्य को निर्माण करने वाले उन सभी शिक्षकों के कठिन प्रयासों को श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए एकत्र हुए हैं ।

साधारण भाषा मे आज हम शिक्षक दिवस को मनाने के लिए एकट्ठा हुए है ।

teachers day speech in hindi for school

अगर आपके सामने शिक्षक और भगवन दोनों है ओर आपको बोला जाए के इन दोनों मे से सबसे पहले आप किसके चरण स्पर्श करेंगे । तो आप क्या करेंगे ?

इसका जवाब महान कवि कबीरदास जी ने क्या खूब लिखा है कि,

हमें पहले शिक्षक के चरण को स्पर्श करना चाहिए क्यूंकि भगवन तक पहुंचने का रास्ता हमे एक शिक्षक ही सिखाता हैं । शिक्षक ही छात्रो को सही ज्ञान देकर भगवान तक पहोचाता है ।

शिक्षक दिवस के इस अवसर पर हम सभी छात्र शिक्षकों को उनके कार्य के लिए आभार व्यक्त करते हैं । आज हम जो भी हैं, जिस जगह पर हे, वो सब एक शिक्षक के बताये हुए ज्ञान से हैं ।

शिक्षक दिवस पुरे विश्व में बहुत ख़ुशी और उत्साह के साथ मनाया जाता है लेकिन अलग-अलग देशों में अलग- अलग दिन शिक्षक दिवस मनाया जाता है ।

International Teachers Day या विश्व शिक्षक दिवस हर साल 5 OCTOBER को मनाया जाता है |

इसका उद्देश्य पुरे विश्व के शिक्षकों के लिए समर्थन संगठित करना ओर भविष्य की आने वाली पीढ़ियों की जरूरतों को पूरा करना है । इसकी शुरुआत सन 1994 मे हुई थी ।

इसी तरह सयुंक्त राज्य अमरीका मे 9 मई के दिन, दक्षिण कोरिया ओर मैक्सिको मे 15 मई के दिन, मलेशिया मे 16 मई के दिन, फ्रांस मे 5 अक्टूबर को, स्पेन मे 27 नवंबर को ओर इज़राइल मे 22 दिसंबर को शिक्षक दिवस मनाया जाता है ।

भारत मे शिक्षक दिवस 5 सितंबर को बड़े धूम-धाम से मनाया जाता है  |

teachers day motivational speech in hindi

आप सब के मनमे प्रश्न होता होगा की आखिर शिक्षक दिवस की उत्पत्ति उसका उद्भव कैसे हुआ ।

मे आपको बताना चाहता हु की शिक्षक दिवस मूल (जड़) हमारे प्रथम उपराष्ट्रपति ओर द्वित्य राष्ट्रपति यानि डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन के साथ जुड़ा हुआ है । इसीलिए हम थोड़ा उनके के बारे मे जानेगे ।

डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जन्म 5 सितंबर 1888 को हुआ था । वो एक महान भारतीय दार्शनिक, राजनेता ओर भारत के सबसे पहले उपराष्ट्रपति और द्वित्य राष्ट्रपति थे ।

ऊपर बताए गए सारे होद्दों ओर डिग्रियो से पहले डॉ राधाकृष्णन बहुत बड़े शिक्षक थे और शिक्षा के प्रति उनकी गहरी सोच और विश्वास था । उस वक्त भी वो भारत के सभी शिक्षकों के लिए एक बहुत बडी मिसाल थे ।

जब डॉ राधाकृष्णन द्वित्य राष्ट्रपति बने तब उनके दोस्तों और स्टूडेंट्स ने अनुरोध किया की वे उन्हें  अनुमति दें की ताकि वो लोग 5 सितंबर को उनका जन्मदिन माना सके ।

लेकिन डॉ राधाकृष्णन ने कहा की, इसे सिर्फ मेरे जन्म दिन मानाने के बजाय अगर पुरे भारत के शिक्षकों के लिए शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाये तो मे बड़ा गर्व महसूस करूंगा ।

और तभी से यानि 1962 से हर साल 5 सितम्बर को डॉ राधाकृष्णन के जन्म दिनपर शिक्षक दिवस के रूप में मनाया जाता है ।

लेकिन फिर भी कुछ लोगो के मनमे प्रश्न होगा की आखिर शिक्षक दिवस का महत्व हमारे जीवन क्या है ?

किसी ने क्या खूब लिखा है की,

सब पृथ्वी को अगर कागज बना दिया जाए ओर सब जंगल को कलम, सातों समंदर को स्याही बनाकर भी अगर हम गुरु के गुण लिखने पर बेठे तो भी नहीं लिखे सकते ।

speech on teachers in hindi

शिक्षक शब्द को परिभाषित करना ही बहुत कठिन है क्योकि, एक शिक्षक न सिर्फ हमें सही रास्ते पर चलना सिखाता हैं बल्कि हमें अपने जीवन में कौन सा व्यवसाय ( केरियर) चुनना चाहिए ओर ज़िंदगी मे कैसे आगे बढ़ना चाहिए ये सब भी हमे सिखाता है ।

इस दुनिया हमारे माता-पिता के अलावा हमारे गुरु ही हमें किसी और से ज्यादा समझते हैं । इसीलिए किसी छात्र का सम्पूर्ण चरित्र और व्यक्तित्व का विकास करना हो तो एक शिक्षक के बिना मुश्किल हैं ।

एक शिक्षक शिल्पकार की तरह होता है । वो भी अपने विद्यार्थियों को सही दिशा मे शिल्प करके देश के लिए योग्य नागरिक बनाता है । इसलिए किसी भी देश को विकास करने के लिए शिक्षकों की भूमिका अहम होती हैं ।

किसी भी व्यक्ति की जिंदगी को सही आकार देने में शिक्षकों का बड़ा हाथ होता है । माता पिता के बाद हमारे गुरु ही हमारे मार्ग दर्शक हैं । सही और गलत का परख करना एक गुरु ही सिखाता हैं ।

हमें प्यार और गुण देने के लिए हमारे माता-पिता जिम्मेदार हैं, लेकिन हमारा भविष्य उज्ज्वल और सफल बनाने के लिए हमारे शिक्षक जिम्मेदार हैं ।

अध्यापक विध्यार्थीओ को अपने बच्चे की तरह बड़ी गंभीरता और सावधानी से शिक्षित करते हैं ।

एक शिक्षक समाज, देश ओर विद्यार्थियों के लिए महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाता है ।

क्योकि देश के बड़े व्यापारि, वैज्ञानिक, इंजीनियर, किसान, डॉक्टर, राजनेता, ओर कलाकार बनने के लिए अच्छी गुणवत्ता वाली शिक्षा बहुत ही आवश्यक होती है ओर वो एक सामान्य शिक्षक  देता है ।

हर छात्र के लिए शिक्षक दिवस इसलिए बहुत महत्व रखता है । साल मे एक दिन तो एसा हो जिस दिन छात्र बता सके की शिक्षको का उनके जीवन मे क्या महत्व है ।

इस दिन छात्र अपनी भावनाओं को बता सकते हैं, उनके मन में शिक्षक के प्रति जो प्यार और सम्मान है वो इस दिन दिखा सकता हैं ।

shikshak diwas par bhashan

क्योकि पूरे साल भर तो उनको बहुत परिश्रम करना पड़ता है, उनके ऊपर स्कूल के ढेर सारे काम और जिम्मेदारी रहती है ।

इसीलिए इस दिन वो अपने सभी कामों से मुक्त होकर के अपने छात्रों के द्वारा किए गए आयोजनों का आनंद ले सकेंते है ।

अपने भाषण की समाप्ति से पहले यहा पर बेठे सभी शिक्षकों को तहे दिल से धन्यवाद देना चाहूँगा । क्योकि हम विध्यार्थीओ की इतनी शैतानिया झेलने के बाद भी आप हमारे साथ रहे, हमे समझाया और हर विध्यार्थी की कमियों का दूर किया ।

इन सब के लिए में अपने सभी साथी विध्यार्थीओ की और से सभी शिक्षकों को एक बार फिर से धन्यवाद देना चाहता हूँ ।

जय हिंद… जय भारत

अब मे आपसे पूछना चाहता हु की आपको ये लेख teachers day speech in hindi  कैसा लगा । हमने अपनी पूरी कोशिस की हे ताकि आपको सरल ओर साधारण भाषा मे शिक्षक दिवस के विषय पर भाषण (स्पीच) दे सके ।

लेकीन फिर भी आपको इस teachers day speech in hindi मे कोई समस्या हो तो आप हमे email करे ओर आपको ओर भी किसी विषय पर स्पीच चाहिए तो कॉमेंट मे जरूर बताए ।

Thank yo to all my readers .

अमेरिका की खतरनाक तटरक्षक सेना इसे पढ़ने के लिए – click here

आप भी mountain climbing यानि पर्वतारोहण के सोखिन हे तो इसे पढ़ना ना भूले – click here